Skip to Main Content
An Indian Morning

An Indian Morning
Sunday September 4th, 2016 with Dr. Harsha V. Dehejia and Kishore "Kish" Sampat
Classical, Semi-Classical, Devotional, Ghazal, Old/New Popular Bollywood Film songs, Community Announcements and more

Celebrating "Music of India" and keeping the SPIRIT of INDIA alive... एक बार फिर हार्दिक अभिनंदन आप सबका, शुक्रिया, घन्यवाद और Thank You इस प्रोग्राम को सुनने के लिए । गुरु-शिष्य परंपरा भारत की संस्कृति का एक अहम और पवित्र हिस्सा है। जीवन में माता-पिता का स्थान कभी कोई नहीं ले सकता, क्योंकि वे ही हमें इस रंगीन खूबसूरत दुनिया में लाते हैं। कहा जाता है कि जीवन के सबसे पहले गुरु हमारे माता-पिता होते हैं। भारत में प्राचीन समय से ही गुरु व शिक्षक परंपरा चली आ रही है, लेकिन जीने का असली सलीका हमें शिक्षक ही सिखाते हैं। सही मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करते हैं। 01-Anushashan CD MISC-20160904 Track#01 2:53 MOHABBATEIN-2000; Amitabh Bachchan 02-Mata Saraswati Sharda CD MISC-20160904 Track#02 3:30 ALAAP-1977; Yesudas, Diljit Kaur, Madhurani; Jaidev; Rahi Masoom Raza गणेश चतुर्थी 'विनायक चतुर्थी' के नाम से भी जानी जाती है। भाद्रपद चतुर्थी तिथि से दस दिन तक अर्थात अनंत चतुर्दशी तक गणेश उत्सव मनाया जाता है। यह उत्सव महाराष्ट्र में बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है लेकिन अब दक्षिण भारत व उत्तर भारत में भी बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है। लोग श्रद्धा से गणेश जी की मूर्ति की स्थापना अपने घर, गली, मोहल्ले में करते हैं और रोज उनकी पूजा, आरती व रंगारंग कार्यक्रमों से वातावरण को भक्तिमय बना देते हैं। तीन, पांच या दस दिन बाद मूर्ति का विसर्जन किया जाता है। विसर्जन करने के पीछे मान्यता है कि जिस प्रकार मेहमान घर में आते हैं तो कुछ लेकर आते हैं इसी प्रकार भगवान को भी हम हर वर्ष अपने घर बुलाते हैं, वे घर में पधारते हैं तो जरूर सभी के लिए कुछ न कुछ लेकर आते हैं इस प्रकार घर में खुशहाली व सुख-समृद्धि कायम रहती है। गणपति - गण+पति। 'पति' यानी पालन करने वाला। 'गण' शब्द के विभिन्न अर्थ हैं - महर्षि पाणिनि अनुसार : 'गण, यानी अष्टवस्तुओं का समूह। वसु यानी दिशा, दिक्‌पाल (दिशाओं का संरक्षक) या दिक्‌देव। अतः गणपति का अर्थ हुआ दिशाओं के पति, स्वामी। गणपति की अनुमति के बिना किसी भी देवता का कोई भी दिशा से आगमन नहीं हो सकता, इसलिए किसी भी मंगल कार्य या देवता की पूजा से पहले गणपति पूजन अनिवार्य है। गणपति द्वारा सर्व दिशाओं के मुक्त होने पर ही पूजित देवता पूजा के स्थान पर पधार सकते हैं। इसी विधि को महाद्वार पूजन या महागणपति पूजन कहते हैं। भगवान गणपति का पूजन किए बगैर कोई कार्य प्रारंभ नहीं होता। विघ्न हरण करने वाले देवता के रूप में पूज्य गणेश जी सभी बाधाओं को दूर करने तथा मनोकामना को पूरा करने वाले देवता हैं। 03-Mangalam Ganesham CD MISC-20160904 Track#03 4:28 DEV-2004; Abhijeet; Aadesh Srivastava; Saawan Kumar संगीत का कोई मज़हब, कोई ज़बान नहीं होती। 'An Indian Morning' Radio Program है लोकप्रियता से इतर कुछ अनमोल, बेमिसाल रचनाओं पर बातें करने का। बीते चालीस बरस से जारी है 'An Indian Morning' का सफर। ३० अक्तूबर को गीतकार और कवि शंकर शैलेंद्र का जन्‍मदिन था । थियेटर का कोई समूूह या कोई ऐसा जन आंदोलन ना होगा, जिसमें शैलेंंद्र के कुछ गीत ना गाए जाते रहे हों। ये वो गीत हैं जिनका फिल्‍मों से ताल्‍लुक़ नहीं है। आज मैं ऐसा ही एक गीत लेकर हाजिर हुआ हूं। शैलेंद्र अपने फिल्‍मी गीतों में भी हमेशा आम आदमी के पक्ष में खड़े नज़र आते हैं। 'श्री 420' के एक गाने में वो लिखते हैं-- छोटे से घर में ग़रीब का बेटा/ मैं भी हूं मां के नसीब का बेटा/ रंजोग़म बचपन के साथी/ आंधियों में जली जीवन बाती/ भूख ने बड़े प्‍यार से पाला / दिल का हाल सुने दिल वाला बहरहाल....शैलेंद्र की गीतकारी पर फिर कभी विस्‍तार से बातें होंगी। ऐसे गानों कीी बातें जो आम आदमी के गाने हैं। आज सुनते हैं उनका गीत 'तू जिंदा है तो जिंदगी की जित में यक़ीन कर '। 04-Tu Zinda Hai To Zindagi Ki Jeet Mein Yakin Kar CD MISC-20160904 Track#04 4:09 SHAILENDRA-NON-FILM; ASMITA GROUP; Salil Chaudhary; Shailendra सितम्बर ३, १९४० को गोरखपुर, उत्तर प्रदेश में जन्में प्यारेलाल (लक्ष्मीकांत प्यारेलाल जोड़ी के) का बचपन बेहद संघर्षभरा रहा. उनका माँ का देहांत छोटी उम्र में ही हो गया था. उनके पिता पंडित रामप्रसाद जी ट्रम्पेट बजाते थे और चाहते थे कि प्यारेलाल वोयलिन सीखे. पिता के आर्थिक हालात ठीक नही थे, वे घर घर जाते थे जब भी कहीं उन्हें बजाने का मौका मिलता था और साथ में प्यारे को भी ले जाते. उनका मासूम चेहरा सबको आकर्षित करता था. एक बार पंडित जी उन्हें लता जी के घर लेकर गए. लता जी प्यारे के वोयलिन वादन से इतनी खुश हुई कि उन्होंने प्यारे को ५०० रुपए इनाम में दिए जो उस जमाने में बहुत बड़ी रकम हुआ करती थी. वो घंटों वोयलिन का रीयाज़ करते. अपनी मेहनत के दम पर उन्हें मुंबई के रंजीत स्टूडियो के ओर्केस्ट्रा में नौकरी मिल गई जहाँ उन्हें ८५ रुपए मासिक वेतन मिलता था. अब उनके परिवार का पालन इन्हीं पैसों से होने लगा. उन्होंने एक रात्रि स्कूल में सातवें ग्रेड की पढाई के लिए दाखिला लिया पर ३ रुपये की मासिक फीस उठा पाने की असमर्थता के चलते छोड़ना पड़ा. मुश्किल हालातों ने भी उनके हौसले कम नही किए, वो बहुत महत्वकांक्षी थे, अपने संगीत के दम पर अपने लिए नाम कमाना और देश विदेश की यात्रा करना उनका सपना था. "मैं येहुदी मेनुहिन का जबरदस्त फेन था. मेरा सपना था कि हिन्दुस्तान को हमेशा के लिए छोड़ कर विदेश में जाकर बसने का और किसी अँगरेज़ लड़की से शादी कर वहां सेटल होने का. पर लक्ष्मी जी ने मुझे दोस्ती का वास्ता देकर रोक लिया. राज साहब (राज कपूर) अक्सर कहा करते थे लक्ष्मी जी से - "तुमने दो अच्छे काम किए हैं जीवन में, एक अच्छा संगीत दिया और दूसरा प्यारे को विदेश जाने से रोक लिया". राज साहब मुझे बहुत स्नेह देते थे." दोस्तों, प्यारेलाल जी अपने सांझीदार लक्ष्मीकांत के जाने के बाद ६ सालों तक बीमार और अस्वस्थ रहे. पर अब धीरे धीरे स्वस्थ लाभ पा रहे हैं, और शराब और तम्बाकू से भी निजात पा चुके हैं. उम्मीद है कि जल्दी ही वो सक्रिय होकर काम करेंगे और इस नई पीढी को भी अपने जादू भरे संगीत से परिचित होने का मौका अवश्य देंगे. सुनते हैं एल पी यादगार नग्मा 05-Ek Pyar Ka Nagma Hai CD MISC-20160904 Track#05 5:56 SHOR-1972; Lata Mangeshkar, Mukesh; Laxmikant-Pyarelal; Santosh Anand लाल लाल गाल-मिस्टर एक्स १९५७ आज एक बिना विवरण का गीत सुनते हैं. पूर्व में भी बिना विवरण और बिना चटनी संभार के आपको कई गीत सुनवाए हैं .हमारे ब्लॉग के पाठक केवल गीत सुनने और देखने आते हैं तो उनके पूरे पैसे वसूल होना चाहिए ना. अगर पोस्ट नहीं होगी गीत के साथ तो क्या आप गीत नहीं सुनेंगे और देखेंगे ? गीत तो गीत है उसके साथ कुछ ना भी हो तो क्या फर्क पढता है? पोस्ट तो लिखी गयी हैं और लिखी जाती रहेंगी. इतिहास एक बार बन चुका तो उसका विवरण रोज रोज बदलने वाला नहीं है. हाँ व्याख्या के तरीके अलग हो जाते हैं. 06-Lal Lal Gaal CD MISC-20160904 Track#06 3:10 MR. X-1957; Mohammad Rafi; N.Datta; Majrooh Sultanpuri चेहरे पे गिरी ज़ुल्फ़ें-सूरज १९६६ चेहरे पर जुल्फें हटाने के निवेदन से दिल चीर के दिखलाने का ये सफर फिल्म सूरज के गीत में तय कर रहे हैं राजेंद्र कुमार परदे पर और रफ़ी परदे के पीछे. गीत हसरत जयपुरी का है. बहुत विनम्रता के साथ माफ़ी भी मांगी जा रही है गीत में. आज के युग में ऐसे जुमले दुर्लभ हैं. वो ज़माना था जब खांसना और छींकना भी अदब से हुआ करता था और एक आज का है, पहली ही मुलाकात में दिल कमबख्त, बदतमीज़, ढोर, पाजी इत्यादि हो जाता है. 07-Chehre Pe Giri Zulfein CD MISC-20160904 Track#07 5:21 SURAJ-1966; Mohammad Rafi; Shankar-Jaikishan; Hasrat Jaipuri As far as I can recollect, there has never been a film based on the musical instrument 'banjo'. Hence, when a film comes with this title, it is prudent that 'banjo' plays a good part in the entire soundtrack. Vishal- Shekhar are roped in to make this possible for the Riteish Deshmukh starrer and Amitabh Bhattacharya writes the lyrics. It is good to see a single team coming together for this so one expects certain consistency in the sound. There is a definite 80s touch to the manner in which 'banjo' is played right at the beginning of 'Bappa'. Expect this one to be quite popular on Ganesh Chaturthi not just this year but in years to follow as well. Vishal Dadlani brings on good ferocity to the manner in which he goes about singing this devotional number with a contemporary touch to it. The 'dhol' beats are just right too and the presence of 'banjo' right through the song makes it all the more exciting. 08-Bappa CD MISC-20160904 Track#08 3:40 BANJO-2016; Vishal Dadlani, Nakash Aziz; Vishal-Shekhar; Amitabh Bhattacharya THE END समाप्त
Anushashan
Amitabh Bachchan - MOHABBATEIN-2000
Mata Saraswati Sharda
Yesudas, Diljit Kaur, Madhurani; Jaidev; Rahi Masoom Raza - ALAAP-1977
Mangalam Ganesham
Abhijeet; Aadesh Srivastava; Saawan Kumar - DEV-2004
Tu Zinda Hai To Zindagi Ki Jeet Mein Yakin Kar
ASMITA GROUP; Salil Chaudhary; Shailendra - SHAILENDRA-NON-FILM-2012
Ek Pyar Ka Nagma Hai
Lata Mangeshkar, Mukesh; Laxmikant-Pyarelal; Santosh Anand - SHOR-1972
Lal Lal Gaal
Mohammad Rafi; N.Datta; Majrooh Sultanpuri - MR. X-1957
Chehre Pe Giri Zulfein
Mohammad Rafi; Shankar-Jaikishan; Hasrat Jaipuri - SURAJ-1966
Bappa
Vishal Dadlani, Nakash Aziz; Vishal-Shekhar; Amitabh Bhattacharya - BANJO-2016 New
Interactive CKCU
Gandhi Family
We are very happy to listen to Indian Morning program. From, Gandhi Family.

11:12 AM, September 4th, 2016